मुंबई. एनसीपी प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने संसद में जनप्रतिनिधियों की गपशप का खुलासा करते हुए कहा है कि संसद में एक जैसे भाषण सुन हम जब बोर हो जाते हैं तो एक-दूसरे की साड़ी और बाकी चीज़ों पर बात करने लगते हैं.

सुप्रिया सुले ने नासिक में युवतियों के सर्वांगिण विकास के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में कहा है कि हमारे वहां वो चलता है जो आपकी कक्षा में नहीं चलता. सांसदों से बात करते वक्त ऊपर से टीवी में सब दिखता है. आप लोगों को लगता है कि देश की चर्चा कर रहे हैं. समझो मैं चेन्नई के सांसद से बात कर रही हूं तो आप को लगता होगा कि बाप रे, ताई चेन्नई की बाढ़ के बारे में चर्चा कर रहीं हैं. ऐसी कोई चर्चा नहीं होती. तुम्हारी साड़ी कहां से लाई. मेरी कहां से लाई? यही सब बातें होती रहती हैं.

पुरूष सांसद, महिला सांसदों को चिढ़ाते हैं

सुप्रिया ने यहां तक कहा कि संसद के पुरूष मुझे चिढ़ाते हैं कि अगर महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा तो संसद में साड़ी, फेशियल और पार्लर पर ही बातें होंगी. मैं उनको कई बार बोलती हूं कि आप लोग मेरी साड़ी पर कमेंट करते रहते हैं, देश का कोई बहुत बड़ा भला नहीं किया है इसलिए हमें एक बार मौका देने में कोई हर्ज नहीं है.

सब एक जैसा भाषण देते हैं

सुप्रिया ने बताया कि मैं जब संसद में जाती हूं तो पहला भाषण सुनती हूं, दूसरा सुनती हूं, तीसरा सुनती हूं. चौथे भाषण तक जो पहला दूसरा तीसरा बोला होता है वही वो बोलता रहता है और वही बोलते बोलते अगर आप मुझसे पूछेंगे कि क्या भाषण किया तो चौथे भाषण के बाद हम कुछ नहीं बता सकते, इसलिए बीच-बीच में झपकी मार लेते हैं नहीं तो बगल के सांसद से गप मारते रहते हैं.