पुणे. अपनी नियुक्ति के करीब सात महीने बाद टीवी अभिनेता और बीजेपी के सदस्य गजेंद्र चौहान आज भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान यानी एफटीआईआई के अध्यक्ष के तौर पर पदभार संभालेंगे.

चौहान को पद से हटाए जाने की मांग को लेकर हड़ताल कर चुके एफटीआईआई के छात्रों का विरोध-प्रदर्शन जारी है. पुलिस ने विरोध कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज भी किया है और करीब 40 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है. चौहान की नियुक्ति का विरोध जारी रखते हुए छात्रों ने कहा था कि वह जब पदभार संभालेंगे तो वे शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करेंगे.

चौहान की नियुक्ति के विरोध में एफटीआईआई के छात्रों ने पिछले साल 12 जून से लेकर 28 अक्तूबर तक हड़ताल की थी . हड़ताल खत्म होने के बाद ही छात्रों ने संस्था जाना शुरू किया था.

एफटीआईआई छात्र संघ की ओर से कहा गया कि हमें अब भी इन नियुक्तियों पर ऐतराज है और हम तब तक इसका विरोध करेंगे जब तक संबंधित अधिकारी संस्थान का प्रशासन चलाने वाली एफटीआईआई सोसाइटी को स्थगित न कर दें.  एफएसए का कहना है कि देश में उच्च शिक्षा को सभी राजनीतिक दखल से मुक्त करना चाहिए.

इस बीच, एफटीआईआई के निदेशक के घेराव के सिलसिले में जिन 20 छात्रों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए थे और जिन्हें पुलिस नोटिस जारी किया गया है, उन्हें चेतावनी दी गई है कि वे बैठक के दौरान शांति बनाए रखें और ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है.