नई दिल्ली. कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के पूर्व महासचिव एबी बर्धन का अंतिम संस्कार आज यानी सोमवार को निगमबोध घाट पर होगा. उनका निधन शनिवार को दिल्ली के जी.बी. पंत अस्पताल हो गया था. 
 
 
बर्धन को पिछले महीने ही पारालायसिस का अटैक हुआ था जिसके बाद से उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी. दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल में शनिवार की शाम उन्होंने अंतिम सांस ली.
 
‘राजनीतिक दायरे से बाहर थे बर्धन’
 राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एबी. बर्धन के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनका प्रभाव राजनीतिक दायरे से बाहर तक था और देश ने एक सर्वोत्कृष्ट व्यक्तित्व को खो दिया है. बर्धन के बेटे अशोक बर्धन को भेजे शोक संदेश में राष्ट्रपति ने कहा कि देश ने एक सर्वोत्कृष्ट व्यक्तित्व और एक प्रतिबद्ध ट्रेड यूनियन नेता को खो दिया है.
 
‘बर्धन गरीबों की आवाज थे’
बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने एबी. बर्धन के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि वह ‘गरीबों की आवाज’ थे. आडवाणी ने कहा, “एबी.वर्धन के निधन के बारे में जानकर मुझे बेहद दुख हुआ है. वह अपने सिद्धांतों और विचारधारा के प्रति पूरी तरह समर्पित थे. वह मजदूर आंदोलन के नेताओं में से थे और गरीबों की आवाज थे.