रायपुर. नक्सलियों की तरफ से अगवा किए गए तीनों छात्रों को रिहा कर दिया गया है. ये छात्र महाराष्ट्र के पुणे से तीन राज्यों की यात्रा पर साइकिल से निकले थे, जिन्हें नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के बासागुड़ा से अगवा कर लिया था.

रिहा हुए तीनों छात्र सीआरपीएफ कैंप में सुरक्षित हैं. इन छात्रों को आज सुबह अगवा किया गया था. दरअसल आदर्श पाटिल, विलास वलके और श्रीकृष्ण शेवाले “जोड़ो भारत” अभियान के तहत महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के नक्सल प्रभावित इलाकों में शांति यात्रा पर निकले थे.

20 दिसंबर को पुणे से निकले इस दल को बीजापुर जिले के महाराष्ट्र से लगी सीमा से छत्तीसगढ़ में प्रवेश करते हुए भैरमगढ, दंतेवाड़ा, सुकमा होते हुए ओडिशा के कालाहांडी, मलकानगिरि होकर 10 जनवरी, 2016 को बालीमेला पहुंचना था.