श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि पठानकोट एयरबेस पर हुआ हमला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान योजना के लिए पहली बड़ी चुनौती है. अबदुल्ला ने अपने ट्विटर पर लिखा है, “यह जल्दी था. मोदी की ओर से पाकिस्तान के लिए उठाये गये साहसी कदम के लिए यह पहली बड़ी चुनौती है.”
 
उन्होंने लिखा, ”बीजेपी को अपने पहले रूख से अलग हटना होगा कि जिसमें वो कहते हैं कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते” उन्होंने कहा कि भारत पाक वार्ता को ऐसे हमलों से बचाना होगा.
 
उमर ने आगे कहा, ” अपने पुराने अनुभव के आधार पर मुझे विश्वास है कि यह बात उभरेगी कि ये आतंकी वायु सेना को विशेष रूप से निशाना बनाने के लिए कुछ घंटे पहले ही इस पार पहुंचे हैं.”
 
आपको बता दें कि पठानकोट में भारतीय एयरफोर्स के एयरबेस में रविवार को भी ब्लास्ट की आवाज सुनाई दी. इस ब्लास्ट बाद सुरक्षा एजेंसियां फिर से अलर्ट हो गईं हैं और एनआईए की पूरी टीम यहां पहुंच गई है. बाद में खबर आई कि ये ब्लास्ट बम को डिफ्यूज करने के दौरान हुआ था, बम को डिफ्यूज करने में 11 जवान भी जख्मी हो गए हैं. जवान को हॉस्पिटल पहुंचा दिया गया है फिलहाल वो खतरे से बाहर है. 
 
शनिवार को हमले में पांचों आतंकियों को जवानों ने ढ़ेर कर दिया था. इस दौरान तीन जवान शहीद हो गए हैं और चार अन्य सुरक्षाकर्मी घायल भी हो गए हैं.