नई दिल्ली. भीषण भूकंप से जूझ रहे नेपाल व भारत के विभिन्न हिस्सों को फौरी राहत प्रदान करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को तत्काल चिकित्सकीय सहायता सहित राहत सामग्री व बचाव दलों को वहां भेजने का निर्देश देकर लोंगो को राहत देने का काम किया तो वहीं बीएसएनएल ने अगले तीन दिनों के लिए नेपाल किए जाने कॉल की दरों को कम करके पीड़ितों के दर्द पर मरहम लगाने का काम किया.
 
टेलीकॉम इंडस्ट्री की दो जानी मानी कंपनियों ने अपने-अपने तरीके से इस भयावह आपदा की स्थिति में लोंगो के दर्द को बांटने का काम किया है. बीएसएनएल ने जहां इसके लिए अपने कस्टमर्स को नेपाल में इंटरनेशनल कॉल करने पर आपको लोकल कॉल रेट के हिसाब से भुगतान करने की सुविधा दी है तो वहीं  एयरटेल ने नेपाल में मुफ्त कॉल करने की सुविधा देकर लोंगो के जख्म पर मरहम लगाने का काम किया है.
 
आपको बता दें कि बीएसएनएल ने अपने कस्टमर्स को यह सुविधा अगले 72 घंटो यानि 3 दिनों के लिए दी है. आम तौर पर भारत से नेपाल में कॉल करने के लिए 10 रुपए प्रति मिनट की कॉल रेट चार्ज की जाती है लेकिन अब यह आपके नंबर पर उपलब्ध लोकल कॉल रेट के हिसाब से चार्ज की जाएगी.
 
केवल इतना ही नहीं इस भयावह मंजर को ध्यान में रखते हुए एयरटेल ने भी अगले 48 घंटो के लिए नेपाल के लिए फ्री कॉलिंग की सुविधा प्रदान की है. आपको बता दें कि एयरटेल की यह सुविधा आज रात 12 बजे से लागू हो जाएगी. आपको बता दें कि इस भयावह भूकंप के चलते अब तक नेपाल में जहां 1500 लोंगो की मौत हो चुकी है तो वहीं भारत में  45 से अधिक लोंगो के मारे जाने और 60 से ज्यादा लोंगो के घायल होने की खबर है.