नई दिल्ली. कच्चे तेल के भाव में गिरावट लगातार जारी है. वायदा कारोबार में कच्चे तेल की कीमत 29 रुपए गिरावट के साथ 2485 रुपए प्रति बैरल रह गई है. इससे पेट्रोल और डीजल के भाव में और गिरावट हो सकती है. आर्थिक एक्सपर्ट का कहना है कि एशियाई कारोबार में कमजोरी के रूख के चलते तेल के दाम में गिरावट हो रही है.  
 
एमसीएक्स में कच्चा तेल के जनवरी 2016 में डिलीवरी वाले अनुबंध के बाहर 29 रुपए अथवा 1.15 फीसदी की गिरावट के साथ 2485 रुपए प्रति बैरल रह गए, जिसमें 2048 लॉट के लिए कारोबार हुआ. इसी प्रकार कच्चा तेल के फरवरी 2016 में  डिलीवरी वाले अनुबंध के भाव 23 रुपए अथवा 0.89 फीसदी की गिरावट के साथ 2574 रुपए प्रति बैरल रह गए, जिसमें 51 लॉट का कारोबार हुआ.
 
कीमतो में क्यों आई गिरावट
अमेरिकी कच्चा तेल भंडार और उत्पादन के बारे में आंकड़ों के जारी होने से पहले एशियाई कारोबार में कमजोरी के रुख के अनुरूप यहां कच्चा तेल वायदा कीमतों में गिरावट आई. छूट्टियों के कारण कम कारोबारी सत्र वाले साल 2015 के आखिरी सप्ताह में कच्चा तेल कीमते, वैश्विक आपूर्ती की बहुतायत के अगले साल जारी रहने के संकेतों के मद्देनजर विगत कई सालों के निन्म स्तर पर रहे.
 
इस बीच न्यूयार्क मर्केन्टाइल एक्सचेंज में कच्चा तेल के वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट(डब्लूटीआई) के फरवरी में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 46 सेट की गिरावट के साथ 37.33 डॉलर प्रति बैरल रह गई.