चंडीगढ़. कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनके सिवाय, उनके परिवार का कोई भी अन्य सदस्य 2017 में पंजाब में होने वाला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेगा. अमरिंदर विद्यार्थियों से कहा, “मैंने और मेरे परिवार ने यह एक सैद्धांतिक निर्णय लिया है कि परिवार का केवल एक ही सदस्य चुनाव लड़ेगा.” उन्होंने कहा कि वह खुद चुनाव लड़ेंगे.
 
अमरिंदर सिंह ने यह बात इस सवाल के जवाब में कही कि बहार के लोग राजनीति में कैसे आएं जब नेता टिकट केवल अपने ही परिवार को देने में लगे हुए हैं. 
 
आपको बता दें कि अमरिंदर की पत्नी परिणीत कौर पटियाला की विधायक हैं. इस सीट का प्रतिनिधित्व पहले अमरिंदर करते थे. अमरिंदर के बेटे रानिंद्र सिंह ने 2012 में पटियाला जिले की सामाना विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ा था लेकिन हार गए थे. उन्हें 2009 के आम चुनाव में बठिंडा में भी हार मिली थी. परिणीत पटियाला संसदीय सीट से तीन बार सांसद रह चुकी हैं. लेकिन, मई 2014 के आम चुनाव में उन्हें हार मिली थी.
 
विद्यार्थियों ने अमरिंदर से पूछा कि वे राजनीति में कैसे आ सकते हैं जबकि उनकी कोई राजनैतिक पारिवारिक पृष्ठभूमि नहीं है. इस पर अमरिंदर ने कहा कि वक्त बदल रहा है. कांग्रेस युवाओं को राजनीति में आने के लिए प्रोत्साहित कर रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का मामला बादल परिवार (मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ) जैसा नहीं है जहां सब कुछ परिवार में ही बांट लिया जाता है.