नई दिल्ली. ट्विटर पर यात्रियों की मदद करने को लेकर लोगों का दिल जीत रहे रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने हॉक्स ट्वीट पर गहरी नाराजगी जताते हुए कहा है कि लोगों तक मदद पहुंचाने में काफी मेहनत लगती है इसलिए हमारे साथ ऐसा खेल न करें.
 
दरअसल विवेक सिंघानिया नाम के ट्विटर हैंडल से रेलमंत्री को एक ट्वीट किया गया कि वो कफ और सर्दी से परेशान है और उसकी ट्रेन में मदद के लिए कोई नहीं है. 
 
सिंघानिया की मदद के लिए बिलासपुर के डीआरएम ने बताए गए ट्रेन में डॉक्टर को भेजा लेकिन वहां विवेक सिंघानिया नाम का कोई आदमी नहीं मिला और न कोई बीमार था.
 
इससे रेल मंत्री सुरेश प्रभु भी नाराज दिखे और उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि इस तरह के फर्जी ट्वीट न करें क्योंकि रेलवे को लोगों की सेवा करने में काफी मेहनत करनी पड़ती है.