बुलंदशहर. केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बने ये देश के लोगों का सपना है और हमारी पार्टी और सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने आगे कहा कि पार्टी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करेगी या मंदिर निर्माण के लिए एक सहमति पर पहुंचेगी. 
 
उन्होंने एक समारोह में कहा  कि हमारी पार्टी और सरकार इस मुद्दे पर पहले ही अपना मत दे चुकी है. हम राम मंदिर बनाना चाहते हैं लेकिन या तो हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे या फिर मंदिर निर्माण के बारे में आम सहमति बनाएंगे. इसलिए इसमें समय लग रहा है. शर्मा ने कहा कि बीजेपी राम मंदिर निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है और देश के लोग भी चाहते हैं कि राम मंदिर की स्थापना की जानी चाहिए. लेकिन यह मुद्दा कोर्ट में है. 
 
उन्होंने कहा, ”अयोध्या में एक भव्य संग्रहालय निर्मित किया जा रहा है. केंद्र ने 170 करोड़ रूपये की लागत से रामवन गमन पथ परियोजना को मंजूरी दे दी है जो राम के आदर्शों को बताएगी.”
 
बता दें कि कुछ दिनों पहले संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने यह कहते हुए मुद्दे को हवा दे दी कि सभी देशवासी राम मंदिर चाहते हैं. नायडू ने शीतकालीन सत्र को लेकर मीडिया से बातचीत के दौरान यह बात कही थी. वेंकैया नायडू का बयान ऐसे वक्त पर आया जब अयोध्या में वीएचपी की ओर से मंदिर निर्माण के लिए पत्थर लाने की बात कही जा रही है. इस प्रकरण को लेकर बीते दिनों काफी हंगामा भी हुआ था.