नई दिल्ली. आप सरकारी नौकरी ने परिक्षा पास कर चुके हैं और इंटरव्यू में फेल होने का डर लग रहा है तो उस चिंता को खत्म कर दिजीए. केंद्र सरकार एक जनवरी से इंटरव्यू और शपथ पत्र की अनिवार्यता खत्म करने जा रही है. 
 
कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से केंद्र सरकार के सभी मंत्रालयों के सचिवों को जारी एक पत्र में कहा गया है कि इंटरव्‍यू समाप्त करने की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 31 दिसंबर, 2015 की जो समयबद्धता तय की गई थी उसका कड़ाई से पालन करना है.
 
ग्रुप बी और सी के नॉन गेजटेज पदों के लिए है ये आदेश
इसमें कहा गया है, ”भर्ती प्रक्रिया के तहत भविष्य की रिक्तियों के लिए सभी विज्ञापन इंटरव्यू के बिना होंगे.” डीओपीटी ने कहा कि भर्तियों के लिए इंटरव्यू समाप्त करने का निर्णय सभी समूह सी और समूह ‘बी’ श्रेणी के नॉन गेजटेज पदों और ऐसे सभी समकक्ष पदों के लिए है.
 
स्किल टेस्ट या फिजिकल टेस्ट जारी रह सकती हैं
उसने कहा, ”यह भी स्पष्ट किया जाता है कि चूंकि स्किल टेस्ट या फिजिकल टेस्ट इंटरव्यू से अलग है, वे जारी रह सकती हैं. हालांकि ये परीक्षाएं योग्यता परीक्षण से जुडी होंगी. ऐसी परीक्षाओं में अंकों के आधार पर आकलन नहीं किया जाएगा.”
 
यदि किसी विशिष्ट पद के लिए मंत्रालय या विभाग भर्ती प्रक्रिया के तहत इंटरव्यू जारी रखना चाहता है तो छूट की मांग वाला एक विस्तृत प्रस्ताव मंत्री या प्रभारी मंत्री की मंजूरी से डीओपीटी को भेजना होगा. मंत्रालयों को इस संबंध में सात जनवरी तक डीओपीटी को एक समेकित रिपोर्ट भेजने के लिए कहा गया है.