टोक्यो. जापान के एक कैंसर हॉस्पिटल में दो महिलाओं की टेस्ट रिपोर्ट के आपस में बदल जाने के कारण डॉक्टरों ने गलत महिला के स्तन को हटा दिया. दरअसल जिस महिला के स्तन को हटाया गया फिलहाल उसे किसी तरह की सर्जरी की जरुरत नहीं थी.
 
एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक जपान के एक अस्पताल में 50 साल और 30 साल की दो कैंसर पीड़ित महिलाओं का बायॉप्सी टेस्ट किया गया था. इसमें नडील के ज़रिए स्तनों के टिशूज के सैंपल लिए जाता है इस टेस्ट में 30 साल की महिला को कैंसर की आडवांस स्टेज में बताया गया था. जो की गलत रिपोर्ट थी.  
 
इस टेस्ट रिपोर्ट को जब डॉक्टरों ने महिला और उसके परिवार को दिखाया तो वह भी इस सर्जरी को कराने के लिए तैयार हो गए. जिसके बाद दिसंबर के शुरुआती  हफ्तें में महिला के दांए स्तन को सर्जरी के द्वारा हटा दिया. 
 
बता दें इस बात का खुलासा तब हुआ जब अस्पताल ने दोनों महिलाओं से लिए गए नमूनों पर जेनेटिक टेस्ट किया गया. इस टेस्ट में पता चला कि दोनों  महिलाओं के सैंपल आपस में बदल गए थे. फिलहाल हॉस्पिटल अपनी इस गलती के लिए महिला को मुआवजा देने की सोच रही है.