पटना. देश की राजधानी दिल्ली की तरह अब बिहार की राजधनी पटना में भी 15 साल से अधिक पुरानी डीजल गाड़ियां नहीं चलेंगी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजधानी में बढ़ते ध्वनि और वायु प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए अधिकारियों को ऐसे वाहनों को बैन लगाने के निर्देश दिए हैं.
 
राज्य के पर्यावरण एवं वन विभाग के सचिव विवेक कुमर सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को शहरों में अनावश्यक सायरन, हॉर्न बजाने पर रोक के लिए अभियान चलाने, लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने प्रदूषण पर नियंत्रण के मद्देनजर यह निर्देश भी दिया कि नगर निगम क्षेत्र में प्लास्टिक और अन्य कचरों को जलाने पर भी रोक लगाएं.
 
मुख्यमंत्री ने बैठक में पटना शहर में ध्वनि और वायु प्रदूषण की स्थिति पर चिंता जताई और प्रदूषण नियंत्रण पार्षद को इसे कम करने के लिए सख्त कार्रवाई का आदेश दिया. उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को वायु प्रदूषण रोकने के लिए गंगा किनारे और पटना शहर के आसपास के सभी ईंट-भट्ठों पर नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई करने का आदेश दिया.