लखनऊ. समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने निर्भया काण्ड के नाबालिग आरोपी की रिहाई का विरोध जताया है. उन्होंने कहा है कि आरोपी भले ही छूट गया, लेकिन उसे यूपी में नहीं घुसने नहीं दिया जायेगा. 
 
अपर्णा ने कहा, “मैं आरटीआई के जरिए दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस से आरोपी का नाम, पता और फोटो देने को कहूंगी, ताकि प्रदेश की जनता उसे पहचान सके.
 
उन्नाव के हसनगंज प्राइमरी स्कूल में अपर्णा छात्रों को स्वेटर बांटने आई थीं. अपर्णा ने यह भी कहा कि उनकी संस्था के सदस्य आम जनता और समाजसेवी संगठनों के सहयोग से इस कांड के दोषी को यूपी के बॉर्डर पर एंट्री नहीं करने देंगे. इसके लिए 24 दिसंबर को लखनऊ में काले झंडे लेकर हजारों लोग काले गुब्बारे छोड़ कर विरोध प्रदर्शन करेंगे.
 
जुवेनाइल जस्टिस बिल पर जताई खुशी
 
जुवेनाइल जस्टिस बिल पास कराने के लिए राज्यसभा का शुक्रिया कहते हुए अपर्णा ने कहा कि इस बिल के पास होने की वजह से समाज में महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों में कमी आएगी. यह कानून महिलाओं को सशक्त बनाने में कारगर साबित होगा.
 
बता दें कि मंगलवार को राज्यसभा में जुवेनाइल बिल पास हो चुका है जिसमें जघन्य अपराधों में नाबालिग आरोपी की उम्र 18 से घटाकर 16 कर दी गई है. इस बिल पर अभी राष्ट्रपति की मुहर लगनी बाकी है.