नई दिल्ली. दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट परिसर में बुधवार सुबह फायरिंग की घटना सामने आई. रिपोर्ट्स के अनुसार, कोर्ट के रूम नंबर 73 दरवाजे के पास कई राउंड फायरिंग हुई. फायरिंग की ये घटना गैंगवार का नतीजा है.

पूर्वी दिल्ली के डीसीपी भैरों सिंह गुर्जर ने बताया कि इरफ़ान सीलमपुर इलाके का कुख्यात बदमाश है जिसकी हत्या की साजिश उसके दुश्मन गैंग ने रची थी.

इस फायरिंग में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. इनमें एक पुलिस हेड कांस्टेबल राम कुमार की मौत हो गई है. रामकुमार को सिर पर और चेस्ट में गोली लगी जिससे उसकी मौत हो गई. गोलीबारी की इस घटना के बाद कोर्ट परिसर में अफर-तफरी मच गई.

इस गोलीबारी में मजिस्‍ट्रेट बाल-बाल बच गए. फायरिंग करने वालों में चार हमलावर थे. चारों आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है. बताया जा रहा है कि आरोपियों ने पेशी पर लाए गए कैदी इरफान को निशाना बनाया, लेकिन गोली उसके पैर पर लगी.  

फायरिंग उस वक्त हुई जब राम कुमार इरफ़ान को लेकर पेशी के लिये दरवाजे में दाखिल हो रहे थे. पुलिस के मुताबिक राम कुमार के फैमिली को ईस्ट डिस्ट्रिक की पुलिस अपनी एक दिन की सैलरी देगी.