नई दिल्ली. प्रतिष्ठित उच्च शिक्षण संस्थान जवाहर लाल नेहरू विश्वविधालय में एक सहायक प्रोफेसर को यौन उत्पीड़न के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया है. प्रोफेसर के अंतर्गत रिसर्च कर रही विदेशी महिला ने आरोप लगाया कि प्रोफेसर ने उसका यौन उत्पीड़न किया.
 
जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद (ईसी) की एक आपात बैठक में यह फैसला किया गया. परिषद विश्वविद्यालय में फैसला लेने वाली सर्वोच्च इकाई है. शिकायतकर्ता बांग्लादेश की नागरिक है. वह विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग में प्रोफेसर की निगरानी में शोधकार्य कर रही थी.
 
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार  इस आरोप की जांच के लिए GSCASH के अधीन एक समिति बनाई गई थी. जांच में कमेटी ने प्रोफेसर को दोषी पाया और उनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की. इस मुद्दे पर  कार्यकारी परिषद ने तत्काल प्रभाव से उनकी सेवा खत्म करने का फैसला किया है.