लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले 2017 विधानसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने फैसला किया है कि वह आगामी चुनावों के लिए पूरा फोकस यूपी पर ही रखेगा. साथ ही चुनावी तैयारियों को लेकर संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी प्रदेश में विस्तृत दौरे करेंगे.
 
संघ के मुताबिक, शाखाओं को सक्रिय करने में पूरी ताकत लगाई जाएगी. इस एजेंडे को लेकर नए साल से नए तेवरों के साथ काम किया जाएगा और नई रणनीति के साथ काम होगा. संघ के सह सरकार्यवाह दत्रात्रेय होस्बोले 15 जनवरी को लखनऊ आने वाले हैं, वह यहां तीन दिन रहेंगे.
 
फरवरी में 2-3 तारीख को सरकार्यवाह सुरेश जोशी भैया जी का दौरा तय हो चुका है. संघ के शीर्ष नेतृत्व की शाखाओं पर ध्यान देने की नसीहत संघ प्रचारक के लिए किसी कड़े इम्तिहान से कम साबित नहीं होगी.
 
होंगे RSS नेताओं के दौरे :
संघ पूरी कोशिश करेगा कि बिहार चुनाव की जैसी किसी भी तरह की गलतियां यहां पर नहीं दोहराई जाएं. बिहार में बड़ी हार झेलने के बाद बीजेपी अब 2017 में यूपी में सत्ता हासिल करना चाहेगी. इसी लक्ष्य को पाने के लिए उसकी मातृ संस्था आरएसएस ने अगले एक साल तक उत्तर प्रदेश पर पूरा फोकस करने का फैसला किया है. इसके लिए संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों के प्रदेश में विस्तृत दौरे होंगे. साथ ही शाखाओं को सक्रिय करने में पूरी ताकत लगाई जाएगी.