लखनऊ. बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को मिली सफलता के बाद जनता दल-युनाइटेड (जेडीयू) अब उत्तर प्रदेश के लिए काफी उत्साहित दिख रहा है. पार्टी को प्रतीत हो रहा है कि यूपी में यदि गठबंधन के साथ चुनाव लड़ा जाए तो यहां की जमीन में पार्टी की स्थिति बेहतर हो सकती है. गठबंधन को लेकर पार्टी का प्रदेश नेतृत्व भी उत्साह में है.
 
खास बात यह कि जेडीयू का प्रदेश नेतृत्व यूपी में बीएसपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन की कवायद में जुटा है. उसे प्रतीत हो रहा है कि कांग्रेस को बिहार जैसी सफलता यूपी में भी हासिल हो सकती है. इसके अलावा पार्टी का प्रदेश नेतृत्व बीएसपी के साथ गठबंधन के लिए भी काफी सहज दिख रहा है.
 
जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 20 और 21 दिसंबर को नई दिल्ली में होने जा रही है. बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू महागठबंधन को मिली सफलता के बाद पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक होने जा रही है, जिसमें बिहार में मिली सफलता पर चर्चा के अलावा उत्तर प्रदेश में साल 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी की क्या भूमिका होगी, इस पर विस्तृत रूप से गहन चर्चा होगी.
 
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश निरंजन भैया उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा करके कई बिंदुओं पर कार्यकारिणी की बैठक में अपनी बात रखेंगे और प्रदेश की वर्तमान राजनैतिक परिस्थिति और प्रदेश विधान सभा चुनाव के लिए संभावित महागठबंधन सहित पार्टी की विचारधारा और संगठन में धार देने के लिए शरद यादव व नीतीश कुमार की प्रदेश में रैलियां कराने की भी बात कार्यकारिणी में रखेंगे.