हैदराबाद. केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि संसद की कार्यवाही बाधित करने के लिए कांग्रेस तर्क गढ़ने में लगी हुई है. उन्होंने एक बार फिर कहा कि नेशनल हेराल्ड मामले से मोदी सरकार का कोई वास्ता नहीं है. नायडू ने कहा कि किसी न किसी बहाने संसद को बाधित करना कांग्रेस की आदत बन गई है और वह नहीं चाहती कोई बिल पास हो.
 
नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तरक्की कर रहा है. कांग्रेस इसे पचा नहीं पा रही है. उन्होंने कहा कि अदालत के मामले सड़क पर नहीं लाए जाने चाहिए. यह एक तरह से अदालत का अपमान और उस पर अप्रत्यक्ष रूप से दबाव डालना है.
 
उन्होंने इस पर भी हैरानी जताई कि नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जमानत मिलने को जीत के जश्न के रूप में कैसे मनाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि मोदी से नेशनल हेराल्ड मामले का कोई संबंध नहीं है. यह मामला 2012 में दर्ज हुआ था. तब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे.
 
उन्होंने कहा कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहने के दौरान नरेंद्र मोदी बिना किसी जुलूस और संसद या विधानसभा की कार्यवाही में बाधा डाले बगैर ही पेश हुए थे. नायडू ने कहा, “कांग्रेस कहती है कि सरकार विरोधियों को फंसा रही है. लेकिन, लोग जानते हैं कि कौन विपक्ष को निशाने पर लेता रहा है, किसने लोकतंत्र की हत्या की थी, लाखों लोगों को जेल भेजा था और प्रेस की आजादी का गला घोंटा था.”