मुंबई. एक छोटे बच्चे की गवाही से पिता को आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने का चौंका देने वाला मामला सामने आया है. मामला मुंबई का है जहां 4 साल के लड़के की गवाही पर मुंबई की एक सत्र अदालत ने दोषी पिता को आजीवन कैद की सजा सुनाई है. 
 
जानकारी के अनुसार 40 साल का रमेश मौर्य मुंबई के वडाला का निवासी है और अक्सर वह नशे में डूबा रहता था. घर में झगड़े होने की वजह से 30 जून 2013 को उसने अपनी पत्नी मीना को चाकू मारकर मौत के घाट उतार दिया था.
 
बताया जा रहा है कि दोनो पति-पत्नी में छोटी सी बात पानी देने से इन्कार करने को लेकर झगड़ा हुआ था लेकिन बात इतनी बढ़ गई कि उसने अपनी पत्नी का खून कर दिया. मीना के खून की खबर सुनते ही हल्ला मच गया और हॉस्पिटल में भर्ती होने से पहले ही उसकी मौत हो गई.
 
लोक अभियोजक शंकर येरेंदे ने कहा, ‘हमने छह गवाहों से पूछताछ की. लेकिन बच्चे की गवाही से मामले में मदद मिली।’ शंकर ने कहा कि अदालत में गवाही के वक्त बच्चा थोड़ा डरा हुआ था. अभियोजक ने कहा कि लड़के ने क्रमवार तरीके से घटनाएं बताईं और कहा कि रमेश ने उसकी मां को चाकू मारा था.