पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि शराबबंदी ठीक तरीके से लागू हो इसलिए वो चरणबद्ध तरीके से राज्य में पहले देसी शराब बंद करेंगे और उसके बाद विदेशी शराब बंद करेंगी. नीतीश ने कहा कि वो दिखावे के लिए शराबबंदी नहीं कर रहे हैं इसलिए धीरे-धीरे आगे बढ़ेंगे.

राज्य कैबिनेट की बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में नीतीश ने कहा कि पहले चरण में गांवों और कस्बों में शराबबंदी लागू होगी. शराबबंदी पर क्नफ्यूजन को लेकर सफाई देते हुए नीतीश ने कहा कि सरकार चरणबद्ध तरीके से राज्य में शराबबंदी लागू करेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि 1 अप्रैल से केवल नगर निगम और नगर परिषद इलाके में ही शराब की बिक्री होगी. सरकार के इस फैसले से शराब की 90 फीसदी दुकानें बंद हो जाएंगी. उन्होंने कहा कि नगर निगम और नगर परिषद इलाके में भी प्राइवेट डीलर शराब नहीं बेचेंगे बल्कि सिर्फ सरकार की वेबरेज कार्पोरेशन की दुकानों से ही शराब मिलेगी.

नीतीश ने कहा कि देसी और मसालेदार शराब की बिक्री पर पूरी तरह बैन होगा. उन्होंने कहा कि 1 अप्रैल से शराबबंदी को प्रभावी तरीके से लागू करेंगे. उन्होंने कहा कि चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी लागू करने का फैसला इसलिए किया है ताकि इसे प्रभावी तरीके से लागू किया जा सके क्योंकि हम दिखावे के लिए बंद नहीं करना चाहते.

नीतीश ने कहा कि कई राज्यों में पहले पूर्ण शराबबंदी का फैसला लिया गया लेकिन वो प्रभावी तरीके से लागू नहीं हो पाया. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी दुकानों पर शराब पीने पर रोक रहेगी और सीसीटीवी कैमरे से इसकी मॉनीटरिंग की जाएगी.

नीतीश ने कहा कि पूर्ण शराबबंदी के कारण सरकार को रेवेन्यू लॉस की चिंता नहीं है. उन्होंने कहा कि हम शराबबंदी को प्रभावी तरीके से लागू करेंगे और कानून तोड़ने की शिकायत आएगी तो जिले के डीएम और एसपी इसके जिम्मेदार होंगे.