लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी सांसद पत्नी डिम्पल यादव के विधानभवन की लिफ्ट में फंस जाने के बाद तीन अफसरों को सस्पेड कर दिया गया और लिफ्ट ऑपरेट करने वाली कंपनी पर एफआईआर भी दर्ज की गई है.

लिफ्ट मेन्टीनेंस थाईसन क्रूप नाम की इस कंपनी को उत्तर प्रदेश में ब्लैक लिस्ट भी कर दिया गया है. बता दें कि अखिलेश अपनी पत्नी  और मुख्य सुरक्षा अधिकारी शिवकुमार के साथ विधानसभा में आयोजित बाल संसद में भाग लेने के बाद बाहर आ रहे थे कि तभी अचानक लिफ्ट फंस गई.

सीएम अखिलेश और उनकी पत्नी करीब 30 मिनट तक लिफ्ट में फंसे रहे. मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम ने सीएम और उनकी पत्नी को लिफ्ट काटकर बाहर निकाला.