खरगोन. धर्म के नाम पर अलग हुए पति-पत्नी को जोधा-अकबर के एक डॉयलाग ने फिर से एक-दूसरे के करीब ला दिया.

मामला मध्य प्रदेश के खरगोन का है जहां केके खेशगी नाम के शख्स ने शबनम नाम की लड़की से शादी की थी. इतना ही नहीं शादी के बाद खेशगी ने स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन भी कर लिया. लेकिन साल 2014 में उनकी शादी से नाराज़ कुछ लोगों ने उनके घर पर हमला कर दिया.

इस घटना के बाद शबनम अलग रहने लगी जिसके बाद दोनों लोगों ने तलाक लेने का फैसला कर लिया. इसके बाद मामला कोर्ट पहुंचा जहां सीजेएम दुबे ने दोनों की काउंसलिंग की.

काउंसलिंग के दौरान जज ने उन्हें जोधा अकबर का एक डॉयलाग सुनाया जिसको सुनकर पति-पत्नी ने फिर से एक साथ रहने का फैसला कर लिया.

क्या है ये डॉयलाग ?

दरअसल फिल्म में जोधा और अकबर का धर्म अलग-अलग होता है जिसके बाद अकबर जोधा से कहते हैं ’जोधा हम आपके धर्म का सम्मान करते हैं. आप पूरी तन्मयता से अपने धर्म और आस्था को मान सकती हैं. हम धर्म के अलग अनुयायी हो सकते हैं परंतु मंजिल एक है.

डॉयलाग सुनाने के बाद जज ने क्या कहा ?

डॉयलाग सुनाने के बाद जज ने कहा कि क्या आपने जोधा-अकबर के बीच का यह संवाद सुना है? क्या आपने जोधा-अकबर से जुड़ी ऐतिहासिक फिल्म या कोई टीवी सीरियल देखा है. आपकी जिंदगी में यह अनोखा नहीं है. इतिहास में ऐसे कई किस्से हैं, जिसमें धर्म को दरकिनार कर प्रेम को गढ़ा है. जोधा-अकबर इसी समर्पण और प्यार का नाम है. आप अपनी जिंदगी को नए सिरे से जिएं.