लखनऊ. अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के लिए राजस्थान से पत्थर मंगाए जाने और कार्यशाला में पत्थरों की नक्काशी का काम विश्व हिंदू परिषद (विहिप) द्वारा तेज किए जाने पर उत्तर प्रदेश के मनोरंजन कर राज्यमंत्री तेज नारायण पांडेय ने विहिप को कारोबारी बताते हुए पूर्व में लिए गए चंदे का हिसाब मांगा है.
 
राज्यमंत्री ने कहा कि विहिप पहले भी मंदिर निर्माण के लिए पत्थर लाने के नाम पर समाज से चंदा मांगती रही है. विहिप का उद्देश्य पत्थर लाने के नाम पर समाज से चंदा लेकर धन जुटाना और धार्मिक भावनाएं भड़काकर नफरत का कारोबार चलाना है. उन्होंने कहा कि विहिप करोबारी है, जो राम और राममंदिर के नाम पर करोबार करती है. राज्यमंत्री ने कहा कि इन आयोजनों के माध्यम से विहिप जनपद का माहौल बिगाड़ना चाहती है.
 
पांडेय ने कहा कि उत्तर प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री सांप्रदायिक शक्तियों को रोकने में सक्षम हैं. उनके राज्य में सांप्रदायिक ताकतों को पनपने नहीं दिया जाएगा. जो भी माहौल बिगाड़ने की कोशिश करेगा, उससे सख्ती से निपटा जाएगा.