कोच्चि. केरल में डॉक्टरों की एक टीम ने कमाल कर दिखाया है. यहां डॉक्टरों ने 29 हफ्तों के भ्रूण के दिल की सर्जरी की है. रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्चे के दिल के चेंबर के ब्लॉक को ठीक करने के लिए यह सर्जरी किया गया. इसको ‘एऑर्टिक वल्वुलोप्लास्टी’कहा जाता है.
 
अमृता इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च सेंटर के डॉक्टरों ने बताया कि यह भ्रूण ‘एऑर्टिक स्टिनोसिस’ से पीड़ित था. जिसकी वजह से बच्चे के वेंट्रिकल्स में खून सही से नहीं पहुंच रहा था और हॉर्ट अटैक होने का खतरा था. इस ऑपरेशन के बाद मां और भ्रूण की स्थिति सामान्य बताई जा रही है. 
 
इस टीम को लीड करने वाले डॉ. वैद्यनाथन के अनुसार, गर्भावस्था के आने वाले सप्ताह में हम उम्मीद करते हैं कि वेंट्रिकुलर ठीक से काम करेगा और बच्चे का जन्म स्थिर रक्त प्रवाह के साथ होगा.