रायपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में पिछले साल नसबंदी शिविर में नकली दवा के कारण 15 महिलाओं की मौत होने के कारण महिलाएं मध्य प्रदेश के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर्स में जाकर नसबंदी करा रही हैं. 
 
बता दें पिछले एक हफ्ते में पोलमी, कुसियारी, दमगढ़, महिडबरा, के अलावा आसपास के दुसरे गांव से लगभग 700 महिलाओं ने मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में जाकर नसबंदी कराई है.
 
इस बारे में डिंडौरी के सीएमएचओ डॉ. संतोष जैन ने कहा, ‘हितग्राही चाहे कहीं के भी हों, अगर वे आते हैं तो उनकी नसबंदी की जाती है. छत्तीसगढ़ से पहले भी महिलाएं आती रही हैं और अब भी आती हैं क्योंकि वहां बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नहीं है.’
 
बता दें यह पहला मौका नहीं है जब छत्तीसगढ़ के वनांचल की महिलाएं मध्य प्रदेश में जाकर नसबंदी करा रही हैं. इसके पहले भी ऐसे मामले सामने आते रहे हैं. इसके बावजूद प्रशासन इसे रोक पाने में नाकाम रहा है.