नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण कम करने को लेकर केंद्र, दिल्ली और याचिकाकर्ताओं से 15 दिसंबर तक सुझाव मांगा है. एक याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस ठाकुर ने कहा, “दिल्ली में प्रदूषण अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बदनामी की वजह बन रहा है. हाल ही में इंटरनेशनल कोर्ट के न्यायाधीश के साथ बातचीत के दौरान मुझे इस विषय पर शर्मिंदगी महसूस हुई.”
 
कोर्ट ने फिर साफ़ किया कि दिल्ली में प्रवेश करने वाले ट्रकों से ग्रीन टैक्स वसूलने के नियम में रियायत नहीं दी जा सकती. एमसीडी के लिए टोल टैक्स वसूलने वाली कंपनी एसएमवाईआर से अदालत ने कहा कि अगर उसे नए टैक्स को वसूलना घाटे का सौदा लग रहा है तो वह नुकसान की भरपाई के लिए अलग से अर्जी दाखिल करे.