भुवनेश्‍वर. भुवनेश्‍वर स्थित सामाजिक विज्ञान के कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (KISS) के आवासीय स्कूल ने विश्व में शांति बनाए रखने के लिए  ‘सबसे बड़ी मानव वाक्य’ संदेश दिया है जिसमें करीब 15225 बच्चों ने भाग लिया है.
 
चौंका देने वाली बात यह कि इस संदेश की वजह से Kiss ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में रिकार्ड अपने नाम किया है. अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस पर छात्रों ने  विश्व को शांति का संदेश  देने के साथ साथ आतंकवाद के खिलाफ हाथ मिलाने की जरूरत की बात भी रखी है.
 
फेसबुक पर  किया धन्यवाद
 
Kiss के चेयरपर्सन डॉ. अच्‍युत सामंत ने  फेसबुक अकांउट पर पोस्ट डालकर गिनीज बुक की अधिनिर्णायक मिस फॉर्टूना लिसा बर्क को धन्यवाद किया. उन्होंने कहा कि मैं इस प्रयास में  हिस्सा बनने वाले हर व्यक्ति को शुभकामनाएं देता हूं.
 
 

15225 students of KISS set the Guinness World Record title for ‘Largest human sentence’. Thank you, Miss Fortuna Lisa Burke for adjudicating the attempt and Congratulations to everyone who was part of it.

Posted by Achyuta Samanta on Wednesday, December 9, 2015

कुछ ऐसा है स्कूल 
 
कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (KISS) स्‍कूल दुनिया का सबसे बड़ा आदिवासी स्कूल है जहां 25 हजार आदिवासी बच्चे अपना जीवन संवार रहे हैं. इन बच्चों में 62 आदिवासी समूहों के बच्चे हैं और ये सिर्फ उड़ीसा के नहीं बल्कि आस-पड़ोस के राज्यों के भी हैं. लड़का-लड़की के हिसाब से देखें तो 12248 लड़कियां और 12803 लड़के इस समय KISS में पढ़ रहे हैं.