जींद. पंजाब में सिखों की पवित्र धार्मिक पुस्तक गुरु ग्रंथ साहिब के अनादर के मामलों में मुख्य आरोपी को जींद पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है. पुलिस ने आरोपी अमृतसर निवासी परमजीत के साथ उसके एक साथी राजबीर को भी अरेस्ट किया है.
 
थाना प्रभारी सोमवीर ढाका ने बताया कि परमजीत के जिले में होने की सूचना मिलते ही पुलिस ने सभी को सचेत कर दिया. उन्होंने कहा कि पंजाब के मजीठिया पुलिस थाना प्रभारी से सूचना मिली थी कि आरोपी ने अमृतसर के एसपी को फोन किया था और उसकी कॉल के आधार पर उसकी लोकेशन का पता चला.
 
पुलिस ने बताया कि हमे मुखबिर से सूचना मिली थी कि परमजीत को नरवाना रोड के निकट स्थित अचार फैक्ट्री के पास है. पुलिस तुरंत वहां पहुंची और परमजीत और राजबीर को अरेस्ट कर लिया. आरोपी के खिलाफ अमृतसर के मजीठिया में पवित्र ग्रंथ के अनादर में लिप्त होने के आरोप में एक मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने दोनों को पंजाब पुलिस को सौंप दिया है.
 
बता दें कि पंजाब के कोटकपूरा के गांव बरगाड़ी में धर्मग्रंथ को खंडित करने की अफवाह की वजह से माहौल तनावपूर्ण रहा था. यहां धर्मग्रंथ के पन्ने बरगाड़ी गांव की गलियों में बिखेर दिए गए जिसके बाद पंजाब में कई जगह हिंसक प्रदर्शन हुए थे.