फगवाड़ा. बाबरी ढांचा ढहाए जाने की 23वीं बरसी पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने शौर्य दिवस मनाया और एक स्थानीय मंदिर में समारोह आयोजित किया. राज्य इकाई के उपाध्यक्ष इंद्रजीत करवाल के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने उन कारसेवकों को श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने 6 दिसंबर 1992 को ढांचा ढहाए जाने के दौरान अपनी जान गंवाई थी. कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार से अयोध्या में राम मंदिर बनाए जाने की अपील भी की.
 
उन्होंने कहा कि लोकसभा में मोदी सरकार के पास बहुमत है और उसे राम मंदिर के निर्माण के लिए आगे बढ़ना चाहिए क्योंकि यह हिंदुओं के लिए आस्था और भावनाओं से जुड़ा मुद्दा है. कार्यकर्ताओं ने सभी हिंदू इकाइयों से अपने मतभेद त्यागने और अयोध्या में हर कीमत और बलिदान से राम मंदिर का निर्माण करने का साझा लक्ष्य अपनाने की अपील भी की.