रायपुर. छत्तीसगढ़ में अब थर्ड जेंडर (तीसरे लिंग) यानी किन्नरों को ऑपरेशन से उनकी इच्छा के मुताबिक महिला व पुरुष बनाया जाएगा. राज्य के समाज कल्याण व स्वास्थ्य विभाग ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है. तमिलनाडु गई एक टीम ने स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट सौंप दी है. रिपोर्ट के अध्ययन के बाद ऑपरेशन का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा जाएगा. शासन से हरी झंडी मिली तो थर्ड जेंडर ऑपरेशन के बाद सामान्य महिला व पुरुष की तरह जीने लगेंगे.

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों का कहना है कि पूरे परामर्श व माता-पिता की सहमति के बाद ही किन्नर का ऑपरेशन किया जाएगा. किसी को जबर्दस्ती न महिला बनाया जाएगा और न ही पुरुष. छत्तीसगढ़ में किन्नरों की संख्या तीन हजार के आसपास है.

IANS