पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बीजेपी राम मंदिर मुद्दे को जिंदा रखना चाहती है. भगवान राम के प्रति बीजेपी के नेताओं को श्रद्धा नहीं है, बल्कि राम के नाम पर बीजेपी लोगों की भावना का इस्तेमाल करना चाहती है. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के राम मंदिर निर्माण पर दिए गए बयान को लेकर नीतीश ने कहा, “जज के फैसले और दोनों पक्षों की सहमति से ही राम मंदिर बन सकेगा. दरअसल, बीजेपी इस मुद्दे को जिन्दा रखना चाहती है.”
 
 
भागवत ने कोलकाता में बुधवार को एक कार्यक्रम में उम्मीद जताई थी कि राम मंदिर निर्माण उनके जीवनकाल में हो जाएगा. मुख्यमंत्री ने राम मंदिर मुद्दे को लेकर बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा, “बीजेपी और आरएसएस के लोग कहते रहे हैं, ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, पर तारीख नहीं बताएंगे’.”
 
उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा कि आरएसएस और बीजेपी से जुड़े लोग भगवान राम का नाम ऐसे लेते हैं, जैसे राम बीजेपी के सदस्य हों.