मुंबई: महाराष्ट्र की जेल में बंद कैदियों के लिए एक अच्छी खबर है. जेल पुलिस के पास सजा में ज्यादा से ज्यादा तीन महीने की माफी का अधिकार है लेकिन इसका फायदा उठाने के लिए कैदियों को योग की परीक्षा पास करनी होगी.
 
 
जेल पुलिस के एडीजीपी भूषण उपाध्याय के मुताबिक जो कैदी योग की ट्रेनिंग के बाद इसकी परीक्षा में पास कर जाएंगे उन्हें परीक्षा में मिले नंबर के आधार पर सजा में 5 दिन से लेकर 3 महीने तक की माफी दी जाएगी.
 
 
उन्होंने कहा कि अक्सर कैदी जेल के माहौल में खुद को ढाल नहीं पाते और चिड़चिड़े होकर मारपीट करने लगते हैं. योग से कैदी न सिर्फ हालात से लड़ने में सक्षम होंगे बल्कि उन्हें सुधरने का मौका भी मिलेगा.