जकार्ता. पिछले साल 28 दिसंबर को क्रैश हुए एयरएशिया QZ8501 विमान को लेकर इंडोनेशिया के जांचकर्ताओं ने नया खुलासा किया है. जांचकर्ताओं का कहना है कि खराब पुर्जों और क्रू सदस्यों की लापरवाही से ये विमान क्रैश हुआ था.

जांचकर्ताओं ने कहा है कि खराब पुर्जों और क्रू सदस्यों के इस परेशानी को ठीक करने की कोशिश कुछ ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से पिछले साल एयरएशिया का विमान क्रैश हो गया था.

जांचकर्ताओं ने बताया कि प्लेन के फ्लाइट कंट्रोल कंप्यूटर में एक दरार थी और उसे सोल्डर के जरिए जोड़ा गया था और इसमें बार-बार खराबी आ रही थी. इतना ही नहीं चार बार तो उसी यात्रा के दौरान गड़बड़ी हुई, जबकि पिछले साल 23 बार ऐसी दिक्कतें आईं.

राष्ट्रीय ट्रांस्पोर्ट सेफ्टी कमिटी ने अपने बयान में कहा कि  चालक दल की लगातार कोशिशों का असर ये हुआ कि विमान को कंट्रोल करना नामुमकिन हो गया. इसकी वजह से विमान अपने रास्ते से भटक गया.

पिछले साल 28 दिसंबर को करीब ढाई घंटे की इंडोनेशिया के शहर सुरबया से सिंगापुर की उड़ान के दौरान यह विमान बीच में ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. बता दें कि इस हादसे में विमान में सवार सभी 162 लोगों की मौत हो गई थी.