लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पूर्वांचल के लिए रेलवे ने खासतौर से एक ‘कोल्ड चेन’ का प्रस्ताव तैयार किया है. इसके अंतर्गत सब्जियों एवं फलों को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए एवं दूरदराज तक पहुंचाने के लिए ‘एसी कंटेनर’ तैयार किए जाएंगे. इस परियोजना की शुरुआत रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा के संसदीय क्षेत्र गाजीपुर से होगी और उसके बाद फिर इसे प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र बनारस में भी लागू किया जाएगा. रेलवे के अधिकारियों और कंटेनर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के सीनियर मैनेजर विनोद राय के मुताबिक कोल्ड चेन के जरिए खेत से निकली हरी सब्जियों को ताजा रखने और फिर थोक खुदरा व्यापारी या मंडी तक पहुंचाने के लिए कोल्ड चेन की सुविधा उपल्ब्ध होगी.

राय के मुताबिक परंपरागत कोल्ड स्टोरेज से अलग ‘कंट्रोल्ड एटमास्फेयर टेकनीक’ वाले खास तरह के स्टोर तैयार किए जाएंगे, वहीं डिमांड के मुताबिक एक से दूसरे सिरे तक उत्पाद पहुंचाने के लिए एसी कंटेनरों की सुविधा मुहैया कराई जाएगी. इसे गाजीपुर में अफीम फैक्टरी के पास खाली पड़ी जमीन परतैयार किया जाएगा. 10 हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में बनने वाले अलग ढंग के स्टोर की क्षमता 800 टन होगी. इसको तैयार करने पर छह करोड़ की लागत आने का अनुमान है. इस कोल्ड चेन में सब्जियों की पैकिंग, ब्रांडिंग एवं निर्यात की भी व्यवस्था की जाए. ऐसा माना जा रहा है कि रेलवे के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद पूर्वांचल के किसानों को काफी फायदा मिलेगा और वे अपनी सब्जियों को एसी कंटेनर के माध्यम से बाजार तक पहुंचा सकेंगे. इस पहल के बाद सब्जियों के रखरखाव की समस्या भी हल होगी और सब्जियों को खराब होने से भी बचाया जा सकेगा. 

IANS