नयी दिल्ली. केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने यह बयान देकर कांग्रेस के रख की हवा निकाल दी है कि सलमान रश्दी की किताब ‘दि सैटेनिक वर्सेस’ पर पाबंदी लगाने का फैसला एक गलती थी.
 
लोकसभा में असिहष्णुता पर बहस पर रिजिजू ने कहा, ”कांग्रेस की ओर से पैदा किए गए असिहष्णुता के माहौल की हवा तो चिदंबरम ने बहस से पहले ही निकाल दी.” मंत्री रिजिजू ने कहा कि इससे यह साबित हो चुका है कि कांग्रेस ने यह आरोप लगाकर गलती की कि देश में असिहष्णुता का माहौल है. उन्होंने कहा, ”कांग्रेस खुद ही एक असहनशील पार्टी है. चिदंबरम ने इसे साबित कर दिया है.” 
 
बता दें कि तत्कालीन राजीव गांधी सरकार की ओर से रश्दी के विवादित उपन्यास पर पाबंदी लगाने के 27 साल बाद चिदंबरम ने शनिवार को कहा था कि यह गलत था. चिदंबरम ने यह टाइम्स लिटफेस्ट के दौरान कहा था कि मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि सलमान रश्दी की किताब पर पाबंदी गलत थी. रश्दी की किताब पर अक्तूबर 1988 में पाबंदी लगाई गई थी.