पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव बिहार विधानसभा में आरजेडी के नेता चुना गया है. पार्टी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सोमवार को इसकी घोषणा की. विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद ये कयास लगाए जा रहे हैं कि लालू अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव को अपना राजनीतिक वारिस बनाने वाले हैं.
 
आरजेडी की मीडिया प्रभारी प्रगति मेहता ने इस बात की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को बिहार विधानसभा में आरजेडी विधायक दल का नेता चुना गया है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी विधानपरिषद में पार्टी का नेतृत्व करेंगी. उन्होंने बताया कि आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र पूर्वे ने इसकी सूचना बिहार विधानसभा और विधानपरिषद को दे दी है.
 
8 नवंबर को हुई वोटों की गिनती में लालू की पार्टी को सबसे ज्‍यादा सीटें मिली थीं. उनके दो बेटों सहित 80 विधायक चुने गए. उन्‍होंने दोनों बेटों को सरकार में बड़ा ओहदा दिलवाया. तेजस्‍वी को उप मुख्‍यमंत्री के साथ-साथ कई मंत्रालयों का जिम्‍मा सौंपा गया है. जबकि, तेजस्‍वी के बड़े भाई तेज प्रताप यादव को भी कई अहम विभागों का मंत्री बनाया गया है. 
 
बिहार विधानसभा चुनाव में जीत के बाद 13 नवंबर को आरजेडी विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से जेडीयू विधानसभा में विधायक दल के नेता के चयन के लिए पार्टी के अध्यक्ष लालू प्रसाद को अधिकृत कर दिया गया था. तेजस्वी पहली बार विधानसभा चुनाव में विजयी हुए हैं.
 
बिहार में आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस के महागठबंधन ने 243 सीटों में से 178 पर जीत हासिल की है.