पटना. 1990 से लगातार 7वीं बार बिहार में बीजेपी के विधायक रहे प्रेम कुमार को नवनिर्वाचित विधायकों ने विधायक दल का नेता चुना है. वह विधानसभा में विपक्ष के नेता होंगे. केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार और बीजेपी की बिहार इकाई के अध्यक्ष मंगल पांडे ने बताया, “वरिष्ठ पार्टी विधायक प्रेम कुमार को बिहार विधानसभा में बीजेपी विधायक दल का बिना किसी विरोध का नेता चुना गया है.”
 
बिहार विधानसभा के मंगलवार से शुरू हो रहे नए सत्र से एक दिन पहले बीजेपी के 53 विधायकों ने प्रेम कुमार को अपना नेता चुना. इनमें से 23 पहली बार विधायक चुने गए हैं. प्रेम कुमार का संबंध अति पिछड़ा वर्ग से है. वह गया शहर से सातवीं बार विधायक चुने गए हैं. वह मंत्री भी रह चुके हैं. 
 
बीजेपी नेताओं ने बताया कि विधायक नंद किशोर यादव विधायक दल का नेता बनना चाहते थे. लेकिन, पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने उनकी जगह एक नए चेहरे प्रेम कुमार को चुना. इन नेताओं का कहना है कि नंद किशोर को बिहार में पार्टी की करारी हार का खामियाजा भुगतना पड़ा है.
 
बिहार में आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस के महागठबंधन ने 243 विधानसभा सीटों में से 178 पर जीत हासिल की है.