बालेश्वर. भारत ने परमाणु युद्ध-सामग्री ले जाने में सक्षम और 700 किलोमीटर तक की दूरी पर स्थित लक्ष्य को भेद सकने वाली स्वदेशी तौर पर विकसित अग्नि-1 मिसाइल का आज सफल परीक्षण किया. यह परीक्षण ओडिशा तट से निकट स्थित एक परीक्षण रेंज से  ‘स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमांड’ के टेस्ट अभ्यास के तहत किया गया.
 
जमीन से जमीन पर मार करने में सक्षम यह एकल चरणीय मिसाइल ठोस प्रणोदकों से संचालित होती है. इसका टेस्ट अब्दुल कलाम द्वीप (व्हीलर द्वीप) पर स्थित इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज के लॉन्च पैड-4 से 10 बजकर दो मिनट पर किया गया. रक्षा सूत्रों ने इसे एक ”उत्तम प्रक्षेपण” करार देते हुए कहा कि यह टेस्ट भारतीय सेना के स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमांड के टेस्ट अभ्यास का हिस्सा था.
 
उन्होंने कहा, ”यह अभ्यास सही ढंग से अंजाम दिया गया और टेस्ट सफल रहा.” यह प्रक्षेपण संचालनात्मक तत्परता को मजबूती देने के लिए एसएफसी द्वारा समय-समय पर की जाने वाली प्रशिक्षण गतिविधियों के तहत अंजाम दिया गया.