नई दिल्ली. एयरफोर्स पूरे देश में ऐसी सड़कों को खोज रहा है जो आपात स्थितियों में लड़ाकू विमानों को उतारा जा सके. एयरफोर्स सड़कों की पहचान के लिए नैशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया से मदद मांगी है. एयरफोर्स ने राष्ट्रीय राजमार्गों को अपग्रेड किए जाने या नई सड़कों के निर्माण की योजना का ब्योरा शेयर करने के लिए कहा है.
 
इसका मकसद ऐसे जरूरी बदलावों से है जिससे सड़क के एक हिस्से का इस्तेमाल रनवे की तरह किया जा सके. फाइटर प्लेन जरूरत पड़ने पर उड़ान भरने के साथ-साथ उतर भी सकें.जुलाई में यमुना एक्सप्रेसवे पर मिराज-2000 को कामयाबी से उतारे जाने के बाद भारतीय वायुसेना ने NHAI से इस सिलसिले में पूछा है.
 
एयरफोर्स के प्रवक्ता ने कहा कि इससे आपात स्थितियों में अच्छी क्वॉलिटी वाली सड़कों का इस्तेमाल रनवे के तौर पर भी किया जा सकेगा. वो भी तब जब एयरफोर्स के रनवे किसी कारण बंद हों.
 
प्रवक्ता ने कहा, ”हम ऐसी सड़को को राजस्थान, गुजरात और पंजाब में विकसित करने के लिए देख रहे हैं क्योंकी इन राज्यों की सीमा पाकिस्तान से लगी हैं. 
 
बताया जा रहा है कि ऐसे 8 सड़कों और राजमार्गों की पहचान की गई है, जिनमें जरूरी बदलाव करके उन्हें रनवे के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा.