मुंबई. हाई प्रोफाइल शीना मर्डर केस में मुंबई की एक अदालत ने स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की सीबीआई हिरासत को 30 नवंबर तक के लिए बढ़ा दी है. पीटर मुखर्जी को गुरुवार दोपहर सीबीआई की एक विशेष अदालत के सामने पेश किया गया. एजेंसी उन्हें पूछताछ के लिए तीन दिन पहले दिल्ली ले गई थी, जिसके बाद शुक्रवार को मुंबई पहुंचे.
 
अभियोजन पक्ष ने अदालत से आग्रह किया कि वह इस बात की पड़ताल करना चाहती है कि हत्याकांड कहीं पैसों के लेनदेन से तो नहीं जुड़ा और उनका (पीटर मुखर्जी) एक पॉलिग्राफ टेस्ट करवाना चाहती है. 
 
अतिरिक्त महाधिवक्ता अनिल सिंह ने कहा कि सीबीआई ने इंटरपोल को मुखर्जी परिवार के विदेशों में बैंक खातों तक पहुंच बनाने में मदद के लिए लिखा है. उन्होंने अदालत से कहा कि आईएनएक्स कंपनी के सारे पैसे गायब हो गए, जिसमें मुखर्जी दंपति (पीटर व इंद्राणी) साझेदार थे और उन पैसों को शीना के सिंगापुर में एचएसबीसी खाते में जमा करा दिए गए.
 
सिंगापुर में डीबीएस बैंक में कार्यरत गायत्री आहूजा नाम की एक महिला ने वहां एचएसबीसी बैंक में एक खाता खोलने में मदद की. पीटर ने सीबीआई के अधिकारियों को बताया है कि सिंगापुर व हांगकांग में इंद्राणी ने शीना के नाम पर खाते खोले होंगे.
 
सीबीआई ने तर्क दिया है कि मुखर्जी की कंपनी 9एक्स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड ने अपनी नौ कंपनियों का मार्च 2009 में एक आंतरिक ऑडिट कराया था, जिसमें काफी पैसे गायब पाए गए और इसमें दोनों (पीटर-इंद्राणी) का नाम सामने आया, जिसके बारे में आयकर विभाग ने पुष्टि की थी.