लखनऊ. विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक रहे अशोक सिंघल की अंतिम यात्रा के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा गाय को लात मारे जाने की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. इन तस्वीरों के वायरल होने पर संगठन ने इस पर सफाई दी. संगठन ने कहा कि गाय को पैरों से मारने का तो सवाल ही नहीं उठता, गाय हमारे लिए माता का समान है. 
 
विहिप के प्रवक्ता शरद शर्मा ने कहा, ”गाय हमारे लिए हमारे लिए पवित्र रही है और हम उसका अनादर करने का कभी सोच नहीं सकते. गाय हमारी माता है, वो हम सबके लिए पूजनीय है, हमारे कार्यकर्ता गाय को लात कैसे मार सकते हैं.  उन्होंने कहा कि अगर विहिप के कार्यकर्ताओं ने गाय को वास्तव में लात मारी है तो उनकी पहचान करके उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी. 
 
बता दें कि बीते गुरुवार को अशोक सिंघल की अस्‍थियां जनता के दर्शन के लिए रथ से लखनऊ ले जाई जा रहीं थी. गली संकरी होने के कारण रथ मुड़ नहीं पा रहा था, क्‍योंकि सामने तीन-चार गाएं बैठी हुई थीं. ऐसे में वीएचपी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें हटाने के लिए पैरों से मारना शुरू कर दिया.