कोलकाता: टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री एमएस धोनी के आलोचकों को एक बार फिर करारा जवाब दिया है. रवि शास्त्री ने कहा कि लोगों को धोनी के करियर पर सवाल उठाने से पहले खुद को देख लेना चाहिए. धोनी पर उठे सवालों के जवाब में रवि शास्त्री ने कहा कि अभी उनके अंदर बहुत क्रिकेट बाकी है. फिलहाल धोनी से अच्छा कोई नहीं है. वे अपने अनुभव से टीम के लिए जितना कर रहे हैं वो अमूल्य है. मैदान पर धोनी की तुलना में कोई भी बेहतर नहीं है और मैदान पर बल्लेबाजी और खुद की उपस्थिति अपने आप में टीम इंडिया के लिए महत्वपूर्ण है.

बता दें कि न्यूजीलैंड के खिलाफ राजकोट में खेले दूसरे टी-20 मुकाबले में धोनी ने 37 गेंद में 49 रनों की पारी खेली थी. इंडिया को हार का सामना भी करना पड़ा था. जिसके बाद वे आलोचकों के निशाने पर आ गए थे. भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण ने कहा था कि धोनी को अब सोचने की जरूरत है. किसी युवा को टी20 में जगह देनी चाहिए. अजीत अगरकर ने भी वीवीएस लक्ष्मण के साथ सुर में सुर मिलाकर धोनी की पारी पर सवाल उठाए थे.

हालांकि वीरेंद्र सहवाग ने कहा था कि टीम प्रबंधन को चाहिए की धोनी को टीम में उनकी भूमिका के बारे में बताए. हालांकि आलोचकों के निशाने पर आने के बाद विराट कोहली ने भी धोनी का बचाव करते हुए कहा था कि उनके मैदान पर उतरने के समय टीम का रनरेट 8.5 या 9.5 रहता है. विकेट भी बदल चुकी होती है. मुझे समझ नहीं आ रहा है कि महेंद्र सिंह धोनी को निशाना क्यों बनाया जा रहा है.

टीम इंडिया फिल्डिंग के मायने में सबसे बेस्ट
मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि वर्तमान में टीम इंडिया पूरी दूनिया में सबसे अच्छी फिल्डिंग टीम है. फिल्डिंग के टर्म भारतीय टीम की बहुत शानदार है. यह ऐसी चीज है जो इस टीम को अतीत की भारतीय टीमों से अलग करती है. उन्होंने कहा कि यह टीम हमेशा जीत के लिए तत्पर रहती है. हमे दक्षिण अफ्रीक जाने से पहले लगभग डेढ़ महीने में होने वाली सीरीज को जीतने की उम्मीद है. एक बार फिर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान के बचाव में उतरे मुख्य रवि शास्त्री, कहा – धोनी के करियर पर कमेंट्स करने से पहले खुद के करियर पर भी नजर मार ले. धोनी के अंदर अभी बहुत क्रिकेट बाकी है.