नई दिल्ली: केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि यदि सभी लोग एक साथ आगे आ जाएं तो देश में खेल का माहौल और भी शानदार हो सकता है. उन्होंने कहा कि अगर भारत देश की खेल संस्कृति को बदलने का बीड़ा लोग उठा लें तो भारत में 100 उसेन बोल्ट निकल सकते हैं. बता दें कि जमैका के स्टार धावक उसेन बोल्ट ने ओलंपिक खेलों में 8 और विश्व चैंपियनशिप में 11 स्वर्ण पदक जीते हैं. खेल मंत्री राठौड़ ने कहा कि भारत में स्कूल स्तर पर चयन प्रक्रिया में सुधार के लिए सरकार काफी प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा जो भी 12 साल की उम्र में पांच फीट 11 इंच का है, उसे वॉलीबाल या बास्केटबाल टीमों के लिए टीम में चुना जाना चाहिए जबकि जिसमें हाथों और आंखों के बीच अच्छा तालमेल नहीं हो लेकिन वह बहुत तेज दौड़ता हो तो उसे 100 मीटर की दौड़ में रखा जाना चाहिए. 

राठौड़ ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर की प्रतिभा खोज अगले साल मई-जून के करीब रखी गई है. उन्होंने भारत की चयन प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि देश में कौशल के आधार पर चयन नहीं होता है इसलिए अन्य देश हमें पछाड़ देते हैं. हम इसे बदलना चाहते हैं. खेल मंत्री ने कहा कि मेरा मानना है कि देश में 100 उसेन बोल्ट बनाने की क्षमता है.

ओलंपिक में निशानेबाजी में रजत पदक जीतने वाले खेल मंत्री राठौड़ ने कहा कि सरकार का पूरा ध्यान स्कूली बच्चों में खेलों के बढ़ावे पर केंद्रित है जिससे उन्हें क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट में भाग लेने की प्रेरणा मिलेगी. हमें पहली बार एक खेल प्रसारक मिला है जो राष्ट्रीय स्कूल खेल स्पर्धाओं का सीधा प्रसारण करेगा. स्कूल स्पर्धाओं में सबसे ज्यादा दर्शक होते हैं, लेकिन राष्ट्रीय प्रतियोगिता में आपके पास शून्य दर्शक होते हैं. खेल मंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय ने एक एप का प्रस्ताव दिया है जो खेल संबंधित जानकारी देगा जिसमें इसे खेलने का तरीका और इसके नियम भी शामिल होंगे.

Ind vs SL: भारत-श्रीलंका टेस्ट ड्रॉ होने के बाद भी भारतीय टीम ने बनाया ये रिकॉर्ड

Ind vs SL: दिल्ली के कोटला में स्मॉग का कहर जारी, मुश्किल में दिखे मोहम्मद शमी