भुवनेश्वर: मेजबान भारतीय टीम ने शानदार खेल दिखाते हुए हुए बुधवार को ओलंपिक की रजत पदक विजेता बेल्जियम को शूटआउट के बाद सडन डेथ में हराकर हॉकी वर्ल्ड लीग क्वॉर्टर फाइनल से सेमीफाइनल में प्रवेश किया. निर्धारित समय तक दोनों ही टीमें 3-3 से बराबर थीं. वहीं दूसरे क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने स्पेन को 4-1 से हराया. भारत की तरफ से गुरजंट सिंह ने 31वें मिनट हरमनप्रीत सिंह ने 35वें रुपिंदर पाल सिंह ने 46वें मिनट ने गोल किया. गोलकीपर आकाश चिकते ने शूटआउट में चार शानदार गोल का बचाव किया, जिसके बाद भारत ने सडन डेथ में यादगार जीत दर्ज की.

निर्धारित समय तक स्कोर 3 –3 से बराबर रहने के बाद भी शूटआउट में स्कोर 2 – 2 की बराबरी पर था. इसके बाद सडन डेथ में हरमनप्रीत ने भारत के लिए गोल दागा जबकि आर्थर वान डोरेन बेल्जियम के लिए गोल नहीं कर सके. शूटआउट मुकाबले में भारत की तरफ से ललित उपाध्याय और रूपिंदर पाल सिंह ने गोल किए, जबकि हरमनप्रीत, सुमीत और आकाशदीप के निशाने चूक गए. वहीं बेल्जियम के लिए आर्थर और जान डोमैन ने गोल किए.

निर्धारित समय में स्कोर बराबर रहने के बाद पेनाल्टी शूटआउट का सहारा लिया गया. इसमें एशियाई चैंपियन भारत ने बेल्जियम को 3-2 से शूट कर शिकस्त दी.

हॉकी विश्व लीग क्वॉर्टर फाइनल में बेल्जियम को मात देने के बाद भारतीय हॉकी कोच शोर्ड मारिन ने कहा कि टीम लगातार अपने प्रदर्शन में सुधार कर रही है. दोनों टीमें लगातार समय तक 1-1 से बराबरी पर थीं जिसके बाद पेनल्टी शूटआउट का सहारा लिया गया. भारत ने सडन डेथ तक खिंचे मैच में जीत दर्ज कर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. कोच मारिन ने मैच के बाद कहा कि बेल्जियम दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक है और उसके खिलाफ भारतीय टीम ने जिस तरह का खेल हमने दिखाया, उससे मैं काफी खुश हूं. हमारे खेल में निरंतर निखार आ रहा है. भारतीय टीम ने पेनल्टी कॉर्नर में भी शानदार खेल का प्रदर्शन किया.

मेरी कॉम के बाद पहलवान सुशील कुमार ने भी दिया राष्ट्रीय पर्यवेक्षक पद से इस्तीफा

Ind vs SL: भारत-श्रीलंका टेस्ट ड्रॉ होने के बाद भी भारतीय टीम ने बनाया ये रिकॉर्ड