नई दिल्ली. भारत और साउथ अफ्रीका के बीच होने वाले चौथे टेस्ट की मेजबानी के लिए दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार के दिन दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) को अनुमति दे दी है. यह फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में होने वाली है.
 
 
न्यायाधीश बी. डी. अहमद और न्यायाधीश संजीव सचदेवा की खंडपीठ ने दक्षिण दिल्ली महानगर निगम को गुरुवार तक एक से 10 दिसंबर की अवधि के लिए डीडीसीए को प्रोविजनल ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट देने का निर्देश भी दिया. अदालत ने डीडीसीए से दो सप्ताह के अंदर एसडीएमसी को 50 लाख रुपये की बकाया संपत्ति कर की राशि जमा करने के लिए भी कहा.
 
इसके अलावा मुकुल मुद्गल को चौथे टेस्ट मैच से जुड़े शेष मामलों की पड़ताल के लिए नियुक्त किया गया.  दिल्ली सरकार ने ही यह सुझाव दिया था कि उच्च न्यायालय के किसी सेवानिवृत्त न्यायाधीश को इस मामले की देखरेख और डीडीसीए के राजस्व से जुड़े मामले की पड़ताल के लिए नियुक्त किया जा सकता है.
 
डीडीसीए ने एसडीएमसी को पीओसी सर्टिफिकेट जारी करने का निर्देश देने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था. भारत चार मैचों की श्रृंखला में दो मैचों के बाद 1-0 की बढ़त बनाए हुए है. तीसरा मैच 25 नवंबर से नागपुर में खेला जाएगा, जबकि फिरोजशाह कोटला में श्रृंखला का आखिरी मैच तीन दिसंबर से शुरू होगा. डीडीसीए के उपाध्यक्ष चेतन चौहान ने मुकुल मुद्गल क नियुक्ति का स्वागत किया है.
 
IANS