नई दिल्ली. बीसीसीआई ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष पीसीबी को पत्र लिखकर दोनों बोर्डो के अध्यक्षों के बीच होने वाली बातचीत के रद्द होने पर अफसोस जाहिर किया है. इस महीने की शुरुआत में बीसीसीआई प्रमुख शशांक मनोहर और पीसीबी प्रमुख शहरयार खान के बीच दिसम्बर में होने वाली भारत-पाकिस्तान सीरीज को लेकर चर्चा होनी थी लेकिन शिवसेना के भारी विरोध के बाद इस बैठक को रद्द कर दिया गया था.
 
शिवसैनिक अपना विरोध जाहिर करते हुए बीसीसीआई मुख्यालय में घुस गए थे और मनोहर के सामने जाकर शहरयार खान से बातचीत न करने की मांग की थी.
 
 
बीसीसीआई ने इस विरोध के चलते वार्ता रद्द कर दी थी. बाद में पीसीबी ने कहा था कि अगर दिसम्बर में प्रस्तावित सीरीज नहीं होगी तो फिर वह भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप में हिस्सा नहीं लेगा.
 
अब बीसीसीआई ने शिवसेना के विरोध की निंदा करते हुए पीसीबी को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि वह मुंबई की घटना को लेकर शर्मिदा है. पीसीबी के मीडिया प्रमुख अमजद हुसैन ने इसकी पुष्टि की है.
 
 
हुसैन के मुताबिक बीसीसीआई ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कि उसने भारत-पाकिस्तान सीरीज के सम्बंध में भारत सरकार से अनुमति मांगी है. यह सीरीज दिसम्बर में संयुक्त अरब अमीरात में प्रस्तावित है.
IANS