कोलकाता. विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल के 56 गेंद पर 96 रन की तूफानी पारी के दम पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर ने मौजूदा चैंपियन कोलकाता नाइटराइडर्स को तीन विकेट से हराकर आईपीएल आठ में अपने अभियान का जोरदार आगाज किया. गेल ने दूसरे छोर से विकेट गिरने के बावजूद अपने सदाबहार अंदाज में रन बटोरे और ईडन गार्डन्स पर मौजूद केकेआर के धुर समर्थक को भी तालियां बजाने के लिये मजबूर किया.
 
उन्होंने अपनी पारी में सात चौके और इतने ही छक्के लगाये. आरसीबी ने 19 ओवर में सात विकेट पर 179 रन बनाकर जीत दर्ज की. इससे पहले गौतम गंभीर ने 46 गेंद पर 58 रन बनाये और रोबिन उथप्पा (35) के साथ पहले विकेट के लिये 81 रन जोड़े. डेथ ओवरों में आंद्रे रसेल ने केवल 17 गेंदों पर नाबाद 41 रन की तेजतर्रार पारी खेली जिससे टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे नाइटराइडर्स ने छह विकेट पर 177 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था. गेल के साथ कप्तान विराट कोहली (13) सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे लेकिन वह किसी भी समय सहज नहीं दिखे. उन्होंने मोर्ने मोर्कल पर मिडविकेट पर छक्का जड़ा लेकिन इसी गेंदबाज के अगले ओवर में शॉर्ट पिच गेंद कोहली के दस्ताने को चूमकर विकेटकीपर उथप्पा के दस्तानों में समा गयी.
  
केकेआर पांच विशेषज्ञ स्पिनरों के साथ उतरा था और इसलिए उसने मोर्कल के साथ सुनील नरेण से गेंदबाजी का आगाज करवाया. इस रहस्यमयी स्पिनर ने दो ओवर के अपने पहले स्पैल में केवल पांच रन दिये. गेल ने ऐसे में आईपीएल में अपना पहला मैच खेल रहे लेग स्पिनर केसी करियप्पा को निशाना बनाया और उनका स्वागत छक्के और चौके से किया. अब विश्व क्रिकेट के दो धाकड़ बल्लेबाज गेल और डिविलियर्स क्रीज पर थे. करियप्पा जब अपना दूसरा ओवर करने के लिये आये तो डिविलियर्स ने उन पर दो चौके और एक छक्का लगाया लेकिन यह युवा स्पिनर आखिरी गेंद पर दक्षिण अफ्रीकी कप्तान को स्टंप आउट करवाने में सफल रहा. डिविलियर्स ने 13 गेंदों पर 28 रन बनाये जिसमें तीन चौके और दो छक्के शामिल थे.
 
इसके तुरंत बाद मोर्कल ने गेल को जीवनदान दिया और इस कैरेबियाई बल्लेबाज ने इसका पूरा फायदा उठाया. उन्होंने पठान, पीयूष चावला और शाकिब अल हसन जैसे स्पिनरों पर छक्के जड़े. दूसरे छोर से डेरेन सैमी (सात) और सीन एबट (एक) भी नहीं टिक पाये लेकिन गेल टिके रहे. उन्होंने नरेण पर लगातार दो चौके लगाये. नरेण के इस ओवर में 17 रन बने जिसमें हषर्ल पटेल का छक्का भी शामिल है. टीम जब लक्ष्य के करीब थी तब गेल दूसरा रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गये और इस तरह से शतक से चूक गये, लेकिन इससे परिणाम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा. 

नाइटराइडर्स की यह दो मैचों में पहली हार है. इससे पहले गंभीर और उथप्पा ने लगभग आठ रन प्रति ओवर की दर से रन बनाकर केकेआर को अपेक्षित शुरूआत दी. बेंगलूर पांच तेज गेंदबाजों के साथ उतरा था. इनमें से एबट (तीन ओवर में 36 रन) पर सभी की निगाह टिकी थी लेकिन उन्हें लाइन व लेंथ हासिल करने में दिक्कत हुई. गंभीर ने छक्का जड़कर उनके हौसले पस्त करने की कोशिश की. गंभीर जब 31 रन पर थे तब एबी डिविलियर्स जैसे माहिर क्षेत्ररक्षक ने उनका कैच टपका दिया था. पिछले मैच में नाबाद 46 रन की धमाकेदार पारी खेलने वाले सूर्यकुमार यादव (11) आज नहीं चल पाये.
 
हषर्ल पटेल के पारी के 17वें ओवर की दूसरी गेंद पर मनीष पांडे (23) भी रन आउट हो गये. जिन्होंने 15 गेंद खेलकर चार चौके लगाये. रसेल को शाकिब अल हसन से उपर बल्लेबाजी के लिये भेजा गया और उन्होंने छह चौके और दो छक्के जड़कर इस फैसले के साथ पूरा न्याय किया. उनके तूफानी पारी से केकेआर आखिरी तीन ओवरों में 40 रन बटोरने में सफल रहा. अपने विस्फोटक तेवरों के लिये मशहूर रहे यूसूफ पठान (तीन) हालांकि फिर से नाकाम रहे.
IANS