चेन्नई. भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच वनडे मैचों की सीरीज का चौथा मैच कल चेन्नई के चेपक स्टेडियम में खेला जाएगा. इस मैच में भारत की स्थिति करो या मरो के जैसी होगी. सीरीज़ में भारत 1-2 से पीछे चल रहा है ऐसे में भारत को वनडे सीरीज में बने रहने के लिए चेन्नई वनडे  हर हाल में जीतना होगा.

टीम इंडिया की सबसे बड़ी मुश्किल उसकी बल्लेबाजी है. करो या मरो वाले इस वनडे में टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की सबसे बड़ी चिंता टीम का बैटिंग ऑर्डर है. भारत के अधिकतर बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं जिससे कप्तान धौनी पर घरेलू वनडे सीरीज गंवाने का खतरा मंडराने लगा है.

भारतीय टीम के ओपनर शिखर धवन भी इस सीरीज़ में लगातार नाकाम साबित हुए है. शिखर धवन ने सीरीज के तीन मैचों में सिर्फ 57 रन बनाए हैं उधर मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी तीन मैचों में सिर्फ 3 रन बनाए हैं. इतना ही नहीं कप्तान धोनी ने खुद माना है कि टीम अभी तक तय नहीं कर पा रही है कि पांचवें, छठे और सातवें नंबर के लिए कौन आदर्श बल्लेबाज होगा. ये तीनों ऐसे स्थान हैं जहां ऐसे बल्लेबाज चाहिए जो लंबे शॉट जमाने में माहिर हो और अच्छे फिनिशर की भूमिका निभा सके.

गेंदबाजी की बात करें तो टीम इंडिया का आक्रमण इस पर निर्भर करेगा कि भुवनेश्वर कुमार और हरभजन सिंह बीच के ओवरों में कैसा प्रदर्शन करते हैं. अश्विन की गैरमौजूदगी ने निश्चित तौर पर टीम को नुकसान पहुंचाया है.