नई दिल्‍ली. वीरेंद्र सहवाग ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की सभी ख़बरों को सिरे से खारिज कर दिया है. इस पूरे मामले पर सफाई देते हुए सहवाग ने कहा है कि उन्होंने अभी संन्यास का फैसला नहीं लिया है. समय आने पर वह खुद क्रिकेट प्रेमियों को बताएंगे. हालांकि जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले ये संकेत दे दिया कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अब नहीं लौटने वाले हैं. 
 
माना जा रहा है कि सहवाग दुबई में होने वाली मॉस्टर्स लीग में खेलने के लिए संन्यास का ऐलान कर सकते हैं. लीग के नियम के मुताबिक सिर्फ़ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके खिलाड़ी ही लीग में खेल सकते हैं.
 
क्या बोले थे सहवाग
लीग के लिए आयोजित प्रेस कॉन्फ़ेंस में जब सहवाग से पूछा गया कि क्या वो लीग में खेलना चाहते हैं तो उन्होंने कहा कि वह खेलने के लिए तैयार हैं. फिर उनसे ये पूछा गया कि लीग को रिटायर खिलाड़ियों की लीग है तो उन्होंने कहा वो जल्दी ही संन्यास ले लेंगे. इस बात को आग की तरह फैलते देर नहीं लगी और ट्विटर पर सहवाग के संन्यास की ख़बर फैल गई. सहवाग ने ख़ुद संन्यास लेने का एलान नहीं किया है.
 
सहवाग ने भारत के लिए 104 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 8586 रन बनाए हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 23 शतक निकले. वहीं 251 वनडे में सहवाग ने 8273 रन बनाए हैं. नज़फ़गढ के नवाब के नाम से मशहूर वीरू ने 19 टी-20 मैच भी खेले हैं. टेस्ट में सहवाग का सर्वाधिक स्कोर 319 रन का है जबकि वनडे में उनका सबसे बड़ा स्कोर 219 रन है जो उन्होंने वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ इंदौर वनडे में बनाया था. सहवाग, 15 साल से ज़्यादा समय दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने के बाद हरियाणा के लिए रणजी ट्रॉफ़ी में खेल रहे हैं.